Breakup Status Shayari In Hindi For Whatsapp & Facebook :- If You Are Searching The Latest & Best Collection Of Breakup Status Shayari In Hindi For Whatsapp & Facebook. In This Post We Are Sharing  Best Breakup Status With Images. This Breakup Status Status for your Whatsapp, Facebook & Instagram Status.

In This Post Latest & Best Collection Of Breakup Status With Image For Whatsapp & Facebook. If You Like Image Then Share Your Friend and Other Family Member, Social Network Like - Whatsapp, Facebook & Pinterest. And You Can Download All Breakup Status Quotes.

Breakup Status Shayari In Hindi 

Breakup Status Shayari In Hindi For Whatsapp & Facebook Status
Best breakup status shayari in hindi for whatsapp



शायद दिल टूटने के लिए ही बना है।

एक दिन तुम्हे एहसास होगा कि क्या था मैं तुम्हारे लिए !
 पर तब तक मैं तुम्हारी ज़िन्दगी से बहुत दूर जा चुका हूँगा ।

कितने सालों के इंतज़ार का सफर खाक हुआ ।
उसने जब पूछा “कहो कैसे आना हुआ”।

बेगाना हमने तो नहीं किया किसी को,
लेकिन जिसका दिल भरता गया वो दूर जाता गया ।

मेरे ख्वाबों में तुम मेरी हो लेकिन तुम्हे पाना मेरा ख्वाब है।
काश तुम मुझसे दूर ना जाती। I miss You !

इस जमाने में वफ़ा की तलाश ना कर मेरे दोस्त,
वो वक़्त और था जब मकान कच्चे और लोग सच्चे हुआ करते थे !

रिश्तों की डोरी तब कमजोर होती है
जब इंसान ग़लतफहमी में पैदा होने वाले सवालों का जवाब खुद ही बना लेता है !

जिंदगी की आधी शिकायतें यूँ ही दूर हो जायें
 अगर लोग लोग एक दुसरे के बारे में बोलने की बजाये एक दूसरे से बोलना सीख जाएँ !

कभी कभी किसी का ध्यान आकर्षित करने का सबसे बेहतर तरीका उस व्यक्ति पर ध्यान ना देना ही होता है !

संसार में सुई बनकर रहें, कैंची बनकर नही।
सुई दो को एक कर देती है, और कैंची एक को दो कर देती है।
सबको जोड़ें, तोड़े नहीं…!

मैंने ज़िन्दगी से कुछ नहीं माँगा तेरे सिवा,
और ज़िन्दगी ने मुझे सब कुछ दिया तेरे सिवा !!

यू तो बरबाद होने के रास्ते और भी थे,
ना जाने मुझे मोहब्बत का ही ख्याल क्यों आया !!

सुना है इश्क़ से तेरी बहुत बनती है,
एक एहसान कर उस से क़ुसूर पुछ मेरा !!

एक तुम हो जो रोज संवरते हो किसी और के नाम से,
 एक हम है जो रोज बिखर जाते है तुम्हारे नाम से !

उसका प्यार भी आवारा बादल निकला,
गरजा कहीं और बरसा कहीं और !!

ऐ मोहब्बत तेरी बस इतनी कहानी है,
होठों पे दुआ और आँखों में पानी है !!

घर बना कर मेरे दिल में वो चली गई है,
ना खुद रहती है और ना किसी और को बसने देती है !!

मुझे बहुत प्यारी है तुम्हारी दी हुई हर एक निशानी,
चाहे वो दिल का दर्द हो या आँखों का पानी !!

मेरी मौत पे किसी को अफ़सोस हो न हो,
ऐ दोस्त पर तन्हाई रोएगी की मेरा हमसफर चला गया !!

वो अक्सर मुझसे पूछते है शायरी कैसे बने,
मैं कहता हूँ कुछ आँसू कागज़ पर गिरे और छप गए !!

फिर किसी ग़म ने पुकारा है शायद,
कुछ उजाला सा हुआ है दिल में !!

हां और ना दोनों एक ही शब्द है,
जिन्हे जवाब मिला वो बर्बाद ही हुआ है !!

मैं अभी तक समझ नहीं पाया तेरे इन फैसलो को ऐ खुदा,
उस के हक़दार हम नहीं या हमारी दुआओ में दम नहीं !!

क्या बटवारा था हाथ की लकीरों का भी,
उसके हिस्से में प्यार और मेरे हिस्से में इंतज़ार !!

इश्क़ का बँटवारा भी रज़ामन्दी से हुआ,
चमक उन्हो ने बँटोरी और तड़प हम ले आये !!

लोग चुराने लगे है स्टेटस मेरे,
गुजारिश है की गम भी चुरा लो !!

बहाना क्यूँ तलाश करते हो रूठ जाने का,
बस इतना कह देते की दिल में जगह नहीं है !!

जिस चाँद को चाहने वाले हजारों हो,
वो क्या समजेगा एक सितारे की कमी को !!

सब कुछ बदला बदला था जब बरसो बाद मिले,
हाथ भी न थाम सके वो इतने पराये से लगे !!

कमबख्त दिल तैयार ही नहीं होता उसे भूलने के लिए,
मैं उसके आगे हाथ जोड़ता हूँ और वो मेरे पाँव पड़ जाता है !!

न जाने किस के रंग में रंगी होगी वो आज,
दिल यही सोच के जल जाता है !!

समझ नहीं आता की वफ़ा करे तो किससे करे,
मिट्टी से बने ये लोग कागज़ के चंद टुकड़ो पे बिक जाते है !!

मुस्कुराने वाले को खुशनसीब मत समझो,
क्यूंकि कुछ लोग मुस्कुराते है गम छुपाने के लिए !!

तेरी जुल्फे इशारो में कह गयी मुझे,
मैं भी शामिल थी तुझे बर्बाद करने में !!

कभी चोट खाई तो कभी दिल संभाला,
मोहब्बत भी एक खेल ही तो था !!

पानी में तैरना सीख लीजिये मेरे दोस्तो,
आँखों में डूबने का अंजाम बुरा होता है !!

सबसे ज्यादा दर्द वो गलतियाँ देती है,
जिनकी माफ़ी माँगने का वक़्त भी गुजर चुका होता है !!

क्या अजीब सी ज़िद है हम दोनों की,
तेरी मर्ज़ी हमसे जुदा होने की और मेरी तेरे पीछे तबाह होने की !!



नींद से मेरा ताल्लुक़ ही नहीं बरसों से,
ख्वाब आ आ के मेरी छत पे टहलते क्यों है !!

दिल ख़ुदा जाने किसके पास रहा,
इन दिनों दिल बहुत उदास रहा !!

मोहब्बत और वफ़ा की हमेशा से दुश्मनी रही है,
ना तो वफ़ा से मोहब्बत मिलती है और ना ही मोहब्बत से वफ़ा !!

लिख देना ये अल्फाज मेरी कबर पे,
मौत अच्छी है मगर दिल का लगाना अच्छा नहीं !!

दिलासा देते है लोग की यूँ हर वक्त रोया न करो,
मैं कैसे बताऊँ की कुछ दर्द सहने के काबिल नहीं होते !!

दिल से पूछो तो आज भी तुम मेरे ही हो,
ये ओर बात है की किस्मत दग़ा कर गयी !!

गए थे गुनाहों की माफ़ी माँगने,
वहाँ एक और गुनाह कर आए हम !!

तकदीर ने जैसा चाहा ढल गये हम,
यूं तो संभल कर चले थे फिर भी फिसल गये हम !!

कफन की गिरह खोल कर मेरा दीदार तो कर लो,
बन्द हो गई है वो आखें जिन से तुम शरमाया करती थी !!

तुम्हे कहने को अल्फाज़ तो सारे चुन लिए थे मैंने,
मगर तेरी खामोशी ने उन्हे मेरे होठों तक आने न दिया !!

अचानक चौंक उठे नींद से हम,
किसी ने शरारत से कह दिया की सुनो वो मिलने आई है !!

ऐसा लगता है की मैं टूट गया हूँ अन्दर से,
बात करता हूँ तो आवाज़ खनकती है मेरी !!