Sad Whatsapp Status In Hindi



sad whatsapp status in hindi images
sad whatsapp status in hindi images for whatsapp 



इसे इत्तेफाक समझो या दर्दनाक हकीकत,
आँख जब भी नम हुई, वजह कोई अपना ही निकला !!

आदत बना ली मैंने खुद को तकलीफ देने की,
ताकि जब कोई अपना तकलीफ दे तो ज्यादा तकलीफ ना हो !!

जिन्दगी भर कोई साथ नहीं देता यह जान लिया हमने,
लोग तो तब याद करते है जब वो खुद अकेले होते है !!

ज़िन्दगी में ज़िन्दगी से हर चीज़ मिली,
मगर उनके बाद ज़िन्दगी न मिली !!

टूटे हुए सपनो और छूटे हुए अपनो ने मार दिया,
वरना खुशी खुद हमसे मुस्कुराना सीखने  आया करती थी !!

ना उजाड़ ए ख़ुदा किसी के आशियाने को,
बहुत वक़्त लगता है, एक छोटा सा घर बनाने को !!

न कसूर इन लहरो का था, न कसूर उन तूफानो का था,
हम बैठ ही लिये थे उस कश्ती में, नसीब में जिसके डूबना था !!

ख़ुदा तूने तो लाखो की तकदीर संवारी है,
मुझे दिलासा तो दे की अब तेरी बारी है !!

फिक़र तो तेरी आज भी है पर,
जिक़र करने का हक़ नहीं रहा !!

दुनिया वालों ने तो फकत उसको हवा दी थी,
लोग तो घर के ही थे आग लगाने वाले !!

बिकती है ना ख़ुशी कहीं, ना कहीं गम बिकता है,
लोग गलतफहमी में है की शायद कहीं मरहम बिकता है !

लड़ना ही मुकद्दर है तो फिर लड़ के मरेंगे,
ख़ामोशी से मर जाना मुनासिब नहीं होगा !!

ना जाने किन रैन बसेरो की तलाश है इस चाँद को,
रात भर बिना कंबल के तन्हा भटकता है आसमान मे !

मैं तुमसे अब कुछ नहीं माँगता ए ख़ुदा,
तेरी देकर छीन लेने की आदत मुझे मंज़ूर नहीं !!

तमाम जख्मो के साथ इसलिये जी रही हूँ  की,
एक दिन तो वो मिलेगा जो मरहम लगाना जानता है !!

कोई और इल्जाम है तो वो भी देते जाओ,
हम तो पहले से ही बुरे थे थोड़े और सही !!

सोचते है सीख ले हम भी बेरुखी करना सबसे,
सब को मोहब्बत देते देते हमने अपनी क़दर खो दी है !!

बड़ी बरकत है तेरे इश्क़ में,
जब से हुआ है, कोई दूसरा दर्द ही नहीं होता !!

तुम अपने ज़ुल्म की इन्तहा कर दो,
फिर कोई हम सा बेजुबां मिले ना मिले !!

काश ! ऐसी लापरवाही हो जाये मुझसे की,
मैं अपनी गम की गठरी कहीं भूल जाऊ !!

Sad Whatsapp Status Images


यह कह कर मेरा दुश्मन मुझे हँसते हुए छोड़ गया,
की तेरे अपने ही बहुत है तुझे रुलाने के लिए !!

क्या खूब सिला दिया है दिल लगाने का,
लहजा भी भूल गया हूँ मैं मुस्कुराने का !!

समझौतो की भीड़-भाड़ में सबसे रिश्ता छुट गया,
इतने घुटने टेके हमने आख़िर घुटना टूट गया !!

कैद करके तेरे चहेरे को,
मेरी आँखों ने ख़ुदकुशी कर ली !!

ये ना पुछ मै शराबी कयुँ हुआ, बस युं समझ ले की,
गमों के बोझ से नशे की बोतल सस्ती लगी !!

कभी भी ख़ुशी मे Status नहीं लिखा जाता है,
ये वो धुन है जो दिल टूटने पर बनती है !!

मैं किस्मत का सबसे पसंदीदा खिलौना हूँ,
वो रोज़ जोड़ती है मुझे फिर से तोड़ने के लिए !!

तेरे दावे है तरक्की के तो फिर ऐसा क्यों है,
मुल्क मेरा आज भी फुटपाथ पर सोता क्यों है !!

दिल तो करता है की रूठ जाऊँ कभी बच्चों की तरह,
फिर सोचता हूँ की मनाएगा कौन ?

जब भी मेरी कलम कोई आह भरती है,
पता नहीं ये दुनिया क्यूं वाह-वाह करती है !!

ज़िन्दगी सारी गुज़र गई काँटो की कगार पर,
पर आज फूलों ने मचाई है भीड़ हमारी मज़ार पर !!

तुम्हारा शक सिर्फ हवाओ पे गया होगा,
चिराग खुद भी तो जल-जल के थक गया होगा !!

ये दिल भी कितना पागल है,
हंमेशा उसी की फिकर में डुबा रहता है जो इसका होता ही नहीं है !!

हमने तो सिर्फ अपने आंसुओं की वजह लिखी है,
पता नहीं लोग क्यों कहते है की वाह ! क्या ग़ज़ल लिखी है !!

जिस परिंदे को अपनी उड़ान से फुरसत ना थी कभी,
आज हुआ तनहा तो मेरी ही दिवार पे आ बैठा !!

किसे परवाह है बिजलियों के गिरने की,
खाक होने को जब आशियाना ही न रहा !!

उनको डर है की हम उन के लिए जान नही दे सकते,
और मुझे खौफ है की वो रोएंगे बहुत मुझे आज़माने के बाद !!

यूँ ही नहीं आ जाता शायरी का हुनर,
किसी की मोहब्बत में खुद को तबाह करना पड़ता है !!

उन लम्हों की यादें ज़रा संभाल के रखना,जो हमने साथ बिताये थे,
क्यूंकि हम याद तो आयेंगे मगर लौट कर नहीं !!

मेरे दर्द भी औरो के काम आते है,
मैं जो रो दूँ तो लोग मुस्कुराते है !!

Top Sad Whatsapp Status

जब लगा था तीर तब इतना दर्द ना हुआ,
जख्म का एहसास तब हुआ जब कमान देखी अपनो के हाथ !!

कैसे बयान करू अपने दर्द को,
सुनने वाले बहुत है पर महसूस करने वाला कोई नहीं !!

कल रात मैंने अपने सारे ग़म कमरे की दीवार पर लिख डाले,
बस फिर हम सोते रहे और दीवारें रोती रही !!

सामान बाधें हुए इस सोच में गुम हुँ,
जो कहीं के नहीं रहते वो कहाँ जाते है !!

काट कर मेरी जुबां कर गया खामोश मुझे,
बेखबर को नहीं मालूम की मन बोलता है !!

लगी प्यास गज़ब की थी और पानी में जहर भी था,
पीते तो मर जाते और न पीते तो भी मर जाते !!

नए लोग से आज कुछ तो सीखा है,
पहले अपने जैसा बनाते है फिर अकेला छोड़ देते है !!

लोग अकसर पूछते है किसके लिये लिखते हो,
और अकसर दिल यही केहता है काश कोई होता !!

तकदीर ने यह कहकर बङी तसल्ली दी है मुझे की,
वो लोग तेरे काबिल ही नहीं थे,जिन्हें मैंने दूर किया है !!

हमसे खेलती रही दुनिया ताश के पत्तो की तरह,
जिसने जीता उसने भी फेंका और जिसने हारा उसने भी फेंका !!

वक़्त भी लेता है करवटे कैसी कैसी,
इतनी तो उम्र भी नहीं थी, जितने हमने सबक सीख लिए !!

किसी  की तलाश में मत नीकलो,
लोग खो नहीं जाते, बदल जाते है !!

ख़्वाहिशों का कैदी हूँ मैं,
मुझे हकीक़ते सज़ा देती है !!

आंसुओ का कोई वजन नहीं होता दोस्त,
पर न जाने इनके गिर जाने से मन हल्का क्युँ हो जाता है !!

आज जिस्म में जान है तो देखते नही हैं लोग,
जब रूह निकल जाएगी तो कफन हटा हटा कर देखेंगे लोग !!

जिन्दगी बैक टु बैक दर्द दे रही है,
डर है कहीं बड़ा होकर अल्ताफ राजा‬ न बन जाऊ !!

न जाने कब खर्च हो गये, पता ही न चला,
वो लम्हे जो छुपाकर रखे थे जीने के लिए !!

दहशत सी होने लगी है, इस सफ़र से अब ....
ऐ जीन्दगी कहीं तो पहुँचा दे, ख़त्म होने से पहले !!

खुद कभी बेचा करता था दर्दे दिल की दवा,
आज वक़्त मुझे अपनी ही दुकान पर ले आया !!

हर कोई मुझे जिंदगी जीने का तरीका बताता है,
उन्हे कैसे समझाऊ की एक ख्वाब अधुरा है वर्ना जीना मुझे भी आता है !!

मुझको ढुँढ लेता है, रोज किसी बहाने से,
दर्द वाकिफ हो गया है, मेरे हर ठिकाने से !!

क्या लिखु अपनी जिंदगी के बारे में दोस्तो,
वो लोग ही बिछड़ गए है जो जिंदगी हुआ करते थे !!

थोडी मुस्कुराहटे ऊधार दे दे मुझे  ए ज़िन्दगी,
कुछ अपने आ रहे है, मिलने की रस्म निभानी है !!

अब मेरी जिंदगी की दुआ मांगते है लोग,
जब मैंने जिंदगी को नजर से गिरा दिया !!

ए दोस्तो इश्क़ का दस्तूर ही कुछ ऐसा होता है,
जो इसको जान लेता है ये साला उसीकी जान ले लेता है !!

Sad Whatsapp Shayari Status  In Hindi


क्या पानी पे लिखी थी मेरी तकदीर मेरे मालिक,
हर ख्वाब बह जाता है मेरे रंग भरने से पहले ही !!

जिसने देखा ही नहीं आंसुओं की बरसात का मौसम,
वो शख्श क्या जाने की दिल का दर्द क्या है !!

यूँ तो कोई शिकायत नहीं मुझे मेरे आज से,
मगर कभी-कभी बीता हुआ कल बहुत याद आता है !!

वापसी का कोई सवाल ही नहीं,
घर से निकला हूँ, आँसुओ की तरह !!

हर जुर्म पे ‎उठती‬ है ‎उँगलिया‬ मेरी ‎तरफ,
मेरे सिवा शहर‬ में मासूम है लोग ‎सारे‬ !!

बेबसी किसे कहते है ये पूछो उस परिंदे से,
जिसका पिंजरा रखा भी तो खुले आसमान के तले !!

ऐ नसीब एक बात तो बता जरा,
सब को आजमाता है या मुझसे ही दुश्मनी है ?

बड़ी बेरंग सी हो गयी है अब मेरी ज़िन्दगी,
एक वक़्त था जब लोग मुझसे खुश होने का राज़ पूछते थे !!

मेरे अल्फाजो को सुनने वाले तो बहुत है,
पर मेरी ख़ामोशी को समझने वाला कोई नहीं !!

अफसोस ये नहीं है की दर्द कितना है,
अफसोस ये है की तुम्हे परवाह नहीं है !!

मैं खुद भी अजनबी हूँ अपने लिए,
मुझे गैर कहने वाले तेरी बात में दम तो है !!

बहुत सीमेंट है साहब आजकल की हवाओं में,
दिल कब पत्थर हो जाता है पता ही नहीं चलता !!

बड़े ना-आशना थे हम पहले इस जहाँ में,
तेरी आरजू में मिटे तो वजूद बना हमारा !!

मेरे बुरे दौर में मुझे छोड़ कर जाने वालों,
मेरे अच्छे वक़्त में किस मुँह से लौट कर आओगे !!

मैं भी कभी हँसता खेलता था,
कल एक पुरानी तस्वीर में देखा था खुद को !!

हंसकर दर्द छुपाने की कारीगरी मशहूर है हमारी,
पर हुनर काम नहीं आता जब तेरा नाम आता है !!

सारे काम ज़रूरी थे ज़िन्दगी में, और होते भी गए,
एक खुदा की इबादत ही थी जो हर बार टलती गयी !!

एक ही बात इन लकीरो में अच्छी है,
धोखा देती है मग़र रहती हाथों में ही है !!

न जाने किन दुवाओ का असर है मुझ पर,
जब भी डुबना चाहता हूँ तो दरियाँ ऊछाल लेता है !!

इस दुनिया के लोग भी कितने अजीब है ना,
सारे खिलोने छोड़कर जज्बातों से खेलते है !!

आंसू भी नहीं बहाने देता ये दिल अब तो कहता है...
ऐसे कैसे इन आंसुओ को बहा सकते हो तुम..इस पर भी तो उसका नाम है !!

जी रहा हूं अभी तेरी शर्तो के मुताबिक,
दौर आएगा कभी मेरी फरमाइशों का भी !!

वक्त लगेगा पर संभल जाऊंगा,
ठोकर से गिरा हूँ, अपनी नजरो से नहीं !!

ऐ बादल ! मेरी आँखे तुम रख लो,
कसम से बड़ी माहिर हैं बरसने में !!

आज मेरी माँ ने बताया मुझे,
बचपन मे कभी मै भी हँसता था !!

पत्थर तो बहुत मारे थे लोगो ने मुझे,
लेकिन जो दिल पर आ के लगा वो किसी अपने ने मारा था !!

दर्द की बारिशों में हम अकेले ही थे,
जब बरसी ख़ुशियाँ न जाने भीड़ कहां से आ गयी !!

चलते थे इस जहाँ में कभी सीना तान के हम भी,
ये कम्बख्त इश्क़ क्या हुआ घुटनो पे आ गए !!

वो जो तुमने एक दवा बतलाई थी ग़म के लिए,
ग़म तो ज्यों का त्यों रहा, बस हम शराबी हो गये !!

कितनी जल्दी दूर चले जाते है वो लोग,
जिन्हें हम जिंदगी समझ के कभी खोना नहीं चाहते !!

शायरी करनी है तो मोहब्बत कर,
दिल के जख्म जरूरी है शायरी के लिए !!

इन्सान कम थे क्या,
जो अब मौसम भी धोखा देने लगे !!

संघर्षो में यदि कटता है तो कट जाए सारा जीवन,
कदम-कदम पर समझौता, मेरे बस की बात नहीं !!

तुम सो जाओ अपनी दुनिया में आराम से,
मेरा अभी इस रात से कुछ हिसाब बाकी है !!

जब भी मेरी कलम कोई आह भरती है,
पता नहीं ये दुनिया क्यूं वाह-वाह करती है !!